मनोरंजन

कार्तिक आर्यन ने इंडस्ट्री में चुप्पी को बनाया औजार, बोले- रिएक्ट करना मतलब लोगों को मौका देना

फिल्म ‘शहजादा’ के प्रमोशन के दौरान कार्तिक आर्यन ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि इस फिल्म को दर्शकों का प्यार मिलेगा।

कार्तिक आर्यन की गिनती आज इंडस्ट्री के टॉप एक्टर्स में होती है। बीते वर्ष रिलीज हुई कार्तिक की फिल्म ‘भूल भुलैया 2’ ने उनके करियर को एक नया आयाम दिया। इन दिनों कार्तिक अपनी आगामी फिल्म ‘शहजादा’ को लेकर चर्चा में हैं। बेशक कार्तिक के सितारे बुलंदी पर हैं, मगर इसके बाद भी उन्हें समय-समय पर कुछ नेगेटिविटी का सामना करना पड़ा है। बड़े बैनर की फिल्म उनके हाथ से फिसल गई। हाल ही में कार्तिक ने अपने करियर पर खुलकर बात की।

फिल्म ‘शहजादा’ के प्रमोशन के दौरान कार्तिक ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि दर्शकों को यह फिल्म पसंद आएगी। इस फिल्म पर बात करते हुए कार्तिक ने अपने करियर के उस दौर की बात की, जब उनके सितारे गर्दिश में थे और चीजें उनके मुताबिक नहीं हो रही थीं।

यह भी पढ़ें ...  बहन अंशुला की बात सुनकर रो पड़े अर्जुन कपूर, नई किताब में खोले अपने दिल के कई राज

धर्मा प्रोडक्शन की ‘दोस्ताना 2’ से उनकी छुट्टी कर दी गई। कार्तिक से जब पूछा गया कि जब लोग उनका और उनके करियर का मजाक बनाते तो कैसा महससू होता था? इस पर कार्तिक ने कहा कि वह इस पर प्रतिक्रिया न देने की कोशिश करते थे। कार्तिक का कहना है कि रिएक्ट करने का मतलब है, दूसरे को इस पर कमेंट करने का मौका देना।

कार्तिक ने कहा, ‘मैंने हमेशा महसूस किया है कि जब भी आप रिएक्ट करते हैं तो सामने वाला जीत जाता है। इसलिए मैं नेगेटिविटी पर रिएक्ट करना जरूरी नहीं समझता, न ही नेगेटिविटी का हिस्सा बनना चाहता हूं। अगर ऐसा करता हूं तो समझिए कि मैं आग में घी डालने का ही काम कर रहा हूं।

आपने देखा होगा कि जब भी नकारात्मक चीजें मेरे सामने आती हैं, मैं खुद को दूर रखने की कोशिश ही करता हूं।’ कार्तिक आर्यन ने कहा कि ‘मैं वह इंसान हूं, जिसकी उपस्थिति को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।’

यह भी पढ़ें ...  पपीते का हलवा है सेहत का खजाना, जानें इसके कई फायदे

बता दें कि कार्तिक आर्यन ने वर्ष 2011 में फिल्म ‘प्यार का पंचनामा’ से डेब्यू किया था। करियर में यह मुकाम हासिल करने तक कार्तिक ने काफी संघर्ष किया है। उनका कहना है कि अपना नाम खुद बनाना, सबसे मुश्किल चीज होती है। सिर्फ फिल्म इंडस्ट्री ही नहीं, हर जगह के लिए यही नियम है।

कार्तिक ने कहा, ‘मैं यहां का हिस्सा नहीं था। मुझे लाइन में लगना पड़ा। जहां बहुत सारे लोग लाइन में लगने के दौरान हार मान लेते हैं, मुझे अपनी इस यात्रा पर गर्व है।’ बता दें कि कार्तिक ‘शहजादा’ में एक ऐसे व्यक्ति का रोल अदा कर रहे हैं, जिसे पता चलता है कि उसके असली माता-पिता अरबपति हैं।

यह फिल्म 17 फरवरी को रिलीज हो रही है। गौरतलब है कि ‘शहजादा’ अल्लू अर्जुन की तेलुगू फिल्म ‘अला वैकुंठप्रेमुलु’ की हिंदी रीमेक है। देखना दिलचस्प होगा कि कार्तिक इस फिल्म के जरिए दर्शकों पर क्या जादू चलाते हैं!

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button