राजनीति

कोलंबिया अरौका पर नियंत्रण के लिए ईएलएन विद्रोहियों और एफएआरसी लड़ाकों के बीच खूनी संघर्ष में 11 लोग मारे गए

पूर्वोत्तर कोलंबिया में एफएआरसी गुरिल्ला आंदोलन के पूर्व सदस्यों और नेशनल लिबरेशन आर्मी के विद्रोहियों के बीच संघर्ष बढ़ता ही जा रहा है। सेना की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, इस संघर्ष में कम से कम 11 लड़ाके मारे गए हैं।

सेना ने कहा है कि वेनेजुएला की सीमा के पास, अरौका प्रांत में प्यूर्टो रोंडन नगरपालिका क्षेत्र में नियंत्रण को लेकर संघर्ष मंगलवार को शुरू हुआ था। एक बयान में कहा गया है कि इस क्षेत्र में सैनिक कानून व्यवस्था बहाल करने के लिए पहुंचे थे। इससे पहले भी अरौका में इस तरह के संघर्ष होते रहे हैं, जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए हैं या फिर विस्थापित हुए हैं।

मानवाधिकार लोकपाल के कार्यालय के अनुसार, 2022 में अरौका में करीब 352 लोगों की हत्या कर दी गई थी, जिनमें से कई ईएलएन और विद्रोहियों के बीच लड़ाई के परिणामस्वरूप मारे गए थे। बता दें, राष्ट्रपति गुस्तावो पेट्रो ने छह दशकों से चले आ रहे इस संघर्ष को समाप्त करने का संकल्प लिया है। पूर्व अर्धसैनिक बलों द्वारा स्थापित इस गुट ने अब तक कम से कम 450,000 लोगों को मौत के घाट उतारा है।

यह भी पढ़ें ...  पाकिस्तान का कौन होगा अगला आर्मी चीफ ? इन नामों पर चल रही है चर्चा, जल्द फैसला ले सकती है शरीफ सरकार

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button