राजनीति

बागेश्वर धाम के दर्शन के लिए कैसे पहुंचे ? जानिए किराया और यात्रा की पूरी जानकारी

मध्य प्रदेश का बागेश्वर धाम और वहां के महत्व पं. धीरेंद्र शास्त्री काफी चर्चा में हैं। बागेश्वर धाम सरकार को लेकर कई दावे हो रहे हैं। कहा जा रहा है कि पं. धीरेंद्र शास्त्री माइंड रीडिंग, भूत प्रेत से छुटकारा दिलाना और भक्तों की कोई भी समस्या दूर कर सकते हैं। महंत धीरेंद्र शास्त्री पर अंधविश्वास फैलाने का भी आरोप है। हालांकि इन सब के बीच कई भक्त बागेश्वर धाम के दर्शन करना चाहते हैं। हिंदू धर्म से जुड़े इस पवित्र स्थान पर जाने की इच्छा कर रहे हैं।

हालांकि पिछले कुछ महीनों में बागेश्वर धाम और पंडित धीरेंद्र शास्त्री काफी प्रसिद्ध हो गए हैं, बहुत से लोग बागेश्वर धाम के बारे में अधिक जानकारी नहीं रखते हैं। ऐसे में अगर आप भी बागेश्वर धाम जाना चाहते हैं तो यहां मध्य प्रदेश के इस धार्मिक स्थल पर पहुंचने की पूरी जानकारी दी जा रही है। आइए जानते हैं कहां स्थित है बागेश्वर धाम, कैसे पहुंच सकते हैं बागेश्वर धाम, कैसे मिलते हैं बागेश्वर धाम में दर्शन, ट्रेन या बस का रूट और बागेश्वर धाम घूमने का पूरा खर्च कितना होगा।

कहां स्थित है बागेश्वर धाम सरकार

हिंदुओं के प्रसिद्ध तीर्थ स्थलों में से एक बन चुका बागेश्वर मंदिर धाम सरकार मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित है। बागेश्वर धाम मंदिर भगवान बालाजी का प्रसिद्ध मंदिर है। यह छतरपुर जिले की खजुराहो पन्ना रोड पर स्थित गंज नाम के छोटे से कस्बे से सड़क मार्ग के जरिए लगभग 35 किलोमीटर की दूरी पर है।

यह भी पढ़ें ...  जुगनूओं ने पी ली है शराब, अब सूरज को भी यह गाली देंगे’, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विपक्षी एकता पर ली चुटकी

कैसे पहुंचे बागेश्वर धाम

अगर आप बागेश्वर धाम सरकार मंदिर जाना चाहते हैं तो सड़क मार्ग के जरिए या ट्रेन या हवाई मार्ग से भी यहां पहुंच सकते हैं। भोपाल से बागेश्वर धाम की दूरी लगभग 365 किलोमीटर है। बागेश्वर धाम ट्रेन से जाना चाहते हैं तो सबसे पास छतरपुर रेलवे स्टेशन अथवा खजुराहो रेलवे स्टेशन है। इस रेलवे स्टेशन से आपको टैक्सी या बस आसानी से मिल जाएंगे। छतरपुर रेलवे स्टेशन से बागेश्वर धाम की दूरी 25 किलोमीटर है। दिल्ली से बागेश्वर धाम की दूरी लगभग 444 किलोमीटर है। अपनी निजी गाड़ी या बस से आप 12 घंटे का सफर तय करके आप बागेश्वर धाम सरकार के दर्शन के लिए पहुंच सकते हैं।

बागेश्वर धाम पहुंचने से दो किलोमीटर पहले ही गाड़ियों को भीड़ के कारण रोक दिया जाता है। सुबह 8 बजे के पहले आप गाड़ी लेकर मंदिर के पीछे तक जा सकते हैं। वरना दो किलो मीटर पहले ही पार्किंग में निजी वाहन को खड़ा करके आप पैदल या फिर टैक्सी से जा पाएंगे। भीड़ के कारण टैंपो मिलना कुछ मुश्किल हो सकता है, इसलिए पैदल यात्रा करें।

बागेश्वर धाम जाने का खर्च

यह भी पढ़ें ...  वजन घटाने के टिप्स एक स्वस्थ दिनचर्या के बाद भी वजन कम नहीं हो रहा है ये कारण हो सकते हैं

दिल्ली से छतरपुर के लिए ट्रेन मिल जाएगी, जिसका स्लीपर क्लास का किराया लगभग 320 रुपये और थर्ड एसी का किराया 800 रुपये तक होता है। वहीं इंदौर या भोपाल से भी छतरपुर के लिए कई ट्रेन मिल जाएंगी। ट्रेन से छतरपुर का किराया 1000 रुपये से कम होगा। सार्वजनिक बस या टैक्सी के माध्यम से आप बागेश्वर धाम तक पहुंच सकते हैं। इसका खर्च भी 500 रुपये प्रति व्यक्ति से कम ही होगा। महज 5000 रुपये के बजट में प्रति व्यक्ति बागेश्वर धाम सरकार के दर्शन किए जा सकते हैं। पास में ही खजुराहो मंदिर स्थित है, सफर के दौरान वहां भी घूमने जा सकते हैं।

क्या है बागेश्वर धाम की मान्यता

बागेश्वर धाम का दरबार मंगलवार और शनिवार को लगता है। मान्यता है कि अगर आपको भगवान बालाजी से कुछ मांगना है या किसी समस्या का निवारण करना है तो अर्जी लगानी होती है। इसके लिए आप घर बैठे अर्जी लगा सकते हैं। बागेश्वर धाम पहुंच कर भी अर्जी लगा सकते हैं। एक लाल कपड़े में पर्ची बांधकर नारियल के साथ अर्जी लगाई जाती है। अर्जी की पर्ची निकलने पर बागेश्वर धाम सरकार पंडित धीरेंद्र शास्त्री आपकी समस्या पूछते हैं और इसका हल निकालते हैं। इसके अलावा दर्शन के लिए आपको कुछ खर्च नहीं करना होता है।

 

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button