पंजाबराजनीतिराज्य

कैप्टन अमरिंदर की सांसद पत्नी का कांग्रेस को जवाब, कहा- पार्टी से बाहर रहने वाले मुझसे सवाल कर रहे हैं

परनीत कौर ने कहा कि मेरी तरफ से मेरे हलके के मुद्दों को प्रमुखता से उठाया गया है। किसी भी राज्य के मंत्री को राज्यों की समस्याओं के समाधान के लिए केंद्र के मंत्रियों से मिलना पड़ता है। राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार द्वारा भी ऐसा किया जा रहा है।

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी और पटियाला की सांसद परनीत कौर ने कांग्रेस हाईकमान द्वारा जारी किए नोटिस का सोमवार को जवाब भेज दिया। इसमें उन्होंने नोटिस जारी करने वाले अनुशासनात्मक कमेटी के सदस्य से लेकर पंजाब कांग्रेस के नेताओं को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने उनकी भूमिका पर ही सवाल खड़े कर दिए है। परनीत ने साफ किया है कि वह अपने हलके के लिए लगातार काम करती रहेंगी। साथ ही पत्र के आखिर में लिखा है कि आप जो भी कार्रवाई मेरे खिलाफ करना चाहते हैं, वह कर सकते हैं।

कांग्रेस की अनुशासनात्मक कार्रवाई कमेटी के सदस्य सचिव तारिक अनवर को लिखे पत्र में कहा, कि मैं हैरान हूं कि एक व्यक्ति जिसने सोनिया गांधी के विदेशी नागरिक होने के मुद्दे पर 20 साल पहले पार्टी छोड़ दी थी। जो करीब 20 साल 2019 तक पार्टी से बाहर रहा। जिसे खुद अनुशासनात्मक कार्रवाई का सामना करना पड़ा, वह अनुशासन मामले में मुझसे सवाल कर रहा है। इसी तरह उन्होंने पंजाब के कांग्रेस के नेताओं को भी घेरा है।

यह भी पढ़ें ...  PM नरेंद्र मोदी भोपाल में 7 घंटे रहेंगे कल, इंदौर हादसे के बाद रोड शो, स्वागत कार्यक्रम स्थगित

उन्होंने कहा कि जो नेता आज उनके ऊपर सवाल उठा रहे हैं, उनके खिलाफ पहले ही कई मामले लंबित हैं। इस मामले में आप मेरे पति से संपर्क कर सकते हैं। वह पंजाब के मुख्यमंत्री रह चुके है। वह इसके बारे में आपको सारी डिटेल मुहैया करवा देंगे। हालांकि वह उनको बचाते रहे क्योंकि यह सभी अपनी पार्टी के थे। लेकिन मैं मानती हूं कि आप ऐसा नहीं करेंगे। जहां तक आपके द्वारा भेजे गए कारण बताओ नोटिस का सवाल है तो मैं हमेशा अपने हलके और पंजाब के साथ खड़ी हूं।

साथ ही अपने कामों को आगे भी जारी रखूंगी। उन्होंने कहा कि मेरी तरफ से मेरे हलके के मुद्दों को प्रमुखता से उठाया गया है। मुझे आशा है कि आपको ज्ञात होगा कि किसी भी राज्य के मंत्री को राज्यों की समस्याओं के समाधान के लिए केंद्र के मंत्रियों से मिलना पड़ता है। राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार द्वारा भी ऐसा किया जा रहा है। मैं भी ऐसे मुद्दों को हल करने के लिए राज्य व केंद्र सरकार से मिलती रहूंगी। चाह आप इसे पसंद करें या नहीं।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button