चंडीगढ़

बजरंगबली को नोटिस देकर रेलवे ने मानी अपनी गलती, जानिए अब क्या किया

अतिक्रमण के मामले में रेलवे ने भगवान बजरंगबली को नोटिस दिया था, अब रेलवे ने मामले में गलती मानते हुए नया नोटिस जारी किया है। मंदिर के पुजारी हरिशंकर शर्मा के नाम से नोटिस दिया है

मध्य प्रदेश के मुरैना में रेल विभाग का अजीबो-गरीब कारनामा सामने आया है। विभाग ने पहले तो मंदिर में विराजमान भगवान बजरंगबली को नोटिस जारी कर दिया फिर गलती समझ आने पर संशोधित नोटिस जारी किया। नए नोटिस में हनुमानजी का नाम हटाकर मंदिर के पुजारी का नाम जोड़ा गया।

रेलवे द्वारा जारी पहले नोटिस में बजरंग बली को ही अतिक्रमणकारी बताते हुए उन्हें सात दिन में अतिक्रमण हटाने को कहा गया था। यह भी चेतावनी दी गई थी कि अतिक्रमण नहीं हटाने पर रेलवे कार्रवाई करेगा और जेसीबी आदि के खर्च की वसूली हनुमानजी से की जाएगी।

दरअसल, इन दिनों ग्वालियर-श्योपुर ब्रॉडगेज लाइन का काम चल रहा है और मुरैना जिले की सबलगढ़ तहसील में हनुमान जी का एक मंदिर ब्रॉडगेज लाइन के बीच में आ रहा है। यह भी बताया जा रहा है कि यह मंदिर रेलवे की जमीन पर बना है। इसलिए रेल विभाग ने यह आनन फानन में स्वयं भगवान हनुमान जी को नोटिस जारी कर दिया गया। नोटिस में रेलवे ने लिखा कि आपने रेलवे की जमीन पर मकान बनाकर अतिक्रमण किया है। रेलवे का यह नोटिस सोशल मीडिया में खूब वायरल हुआ था।

यह भी पढ़ें ...  चंडीगढ़ निगम में भारत की पहली हार: बीजेपी के संधू 19 वोटों के साथ बने.सीनियर डिप्टी मेयर

हनुमानजी के नाम नोटिस में यह लिखा था
‘आपके द्वारा सबलगढ़ के मध्य किलोमीटर में मकान बनाकर रेलवे भूमि पर अतिक्रमण कर लिया गया है। अत: आप इस नोटिस के सात दिन के अंदर रेलवे भूमि पर किया गया अतिक्रमण हटाकर भूमि को खाली करें अन्यथा आपके द्वारा किए गए अतिक्रमण को प्रशासन द्वारा हटाने की कार्रवाई की जाएगी, जिसके हर्ज एवं खर्च की जिम्मेदारी स्वयं आपकी ( भगवान बजरंग बली की) होगी।’

बजरंग बली को दिए गए इस नोटिस की प्रति सहायक मंडल अभियंता ग्वालियर और जीआरपी थाना प्रभारी ग्वालियर को भी भेजी गई थी। बजरंग बली को दिए गए इस नोटिस की प्रति सहायक मंडल अभियंता ग्वालियर और जीआरपी थाना प्रभारी ग्वालियर को भी भेजी गई थी।

रेलवे की उड़ी खिल्ली
जब इस नोटिस को लेकर रेलवे की खिल्ली उड़ाई जाने लगी तो वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में मामला आया। उन्होंने फौरन संशोधित नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। संशोधित नोटिस पुजारी हरिशंकर शर्मा किया गया। उन्हें वे सभी निर्देश दिए गए जो हनुमानजी के नाम जारी नोटिस में दिए गए थे।

त्रुटिवश हनुमानजी का नाम लिखा गया
रेलवे का विवादित नोटिस झांसी रेल मंडल के वरिष्ठ खंड अभियंता, जौरा अलापुर की ओर से 8 फरवरी को सबलगढ़ में स्थित बजरंग बली मंदिर के नाम जारी किया गया था। जब इस नोटिस की सच्चाई जानने के लिए झांसी रेल मंडल के जनसंपर्क अधिकारी मनोज माथुर से संपर्क किया तो उन्होंने पहले इसे रेलवे की सामान्य प्रक्रिया बताया। हालांकि, बाद में संशोधित नोटिस जारी किया गया।

यह भी पढ़ें ...  पंजाब में टैक्स चोरों पर 15.37 करोड़ जुर्माना लगाया गया: मंत्री चीमा
Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button