राष्ट्रीय

राजौरी आतंकी हमले में हिरासत में लिए गए 18 लोगों में महिलाएं भी शामिल मरने वालों की संख्या बढ़कर 7 हो गई

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में हुए आतंकी हमले मामले में पूछताछ के लिए पुलिस ने 18 लोगों को हिरासत में लिया है। इसमें कुछ महिलाएं भी शामिल हैं। राजौरी के SSP मोहम्मद असलम ने इसकी पुष्टि की है। वहीं, रविवार को 1 जनवरी की शाम को हुई फायरिंग में घायल एक और युवक प्रिंस शर्मा की मौत हो गई। इसके बाद मरने वालों का संख्या 7 पहुंच गई है। इनमें 2 बच्चियां भी शामिल हैं।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि राजौरी के डांगरी गांव में हुए आतंकी हमले के आरोपियों का पता लगाने के लिए सर्च ऑपरेशन चल रहा है। जांच सही दिशा में चल रही है। जल्द ही इस हमले की गुत्थी सुलझ जाएगी। जांच और पूछताछ में हमें कुछ अहम सुराग मिले हैं। ऐसा लग रहा है कि राजौरी शहर के पास कुछ गांवों में आतंकवादी छिपे हुए हैं।

राजौरी में लगातार तीन आतंकी हमले

1 जनवरी को बरसाईं गोलियां

नए साल के पहले दिन जम्मू-कश्मीर में तीन बड़ी आतंकी वारदात हुई थीं। आतंकियों ने राजौरी जिले के डांगरी गांव में 1 जनवरी यानी रविवार की शाम फायरिंग की थी। इस हमले में 4 हिंदुओं की जान चली गई थी और 7 घायल हुए थे। लोगों ने बताया कि आतंकी हमारे घरों में आए और आधार कार्ड देखकर दनादन गोलियां बरसा दीं। उनके टारगेट पर बाहरी लोग थे।

2 जनवरी की सुबह IED ब्लास्ट

यह भी पढ़ें ...  पीएम मोदी ने देश को दी बड़ी सौगात, 508 रेलवे स्टेशनों की रखी आधारशिला

इस घटना को अभी 24 घंटे भी नहीं हुए थे कि इसी गांव में एक बार फिर IED ब्लास्ट हुआ और दो बच्चियों की मौत हो गई। इस वारदात में 4 लोग घायल भी हुए थे। धमाका उन 3 घरों में से एक में हुआ, जहां रविवार शाम आतंकवादियों ने फायरिंग की थी। घटना के बाद सर्चिंग में एक और IED मिला था, उसे इलाके से हटा दिया गया था।

प्रदर्शन के बाद फिर धमाका

1 जनवरी की घटना के विरोध में ग्रामीण प्रदर्शन कर रहे थे। उनका प्रदर्शन जैसे खत्म हुआ, एक बार फिर उन्हीं में से एक घर में धमाका हुआ, जहां आतंकी रविवार को आए थे।

राजौरी में डांगरी इलाके के मुख्य चौक पर आतंकी हमले में मारे गए लोगों का शव सड़क पर रखकर प्रदर्शन किया गया। LG मनोज सिन्हा के पहुंचने के बाद शवों का अंतिम संस्कार हुआ। इस दौरान LG ने कहा कि पीड़ित परिवारों को 10-10 लाख रुपए की सहायता दी जाएगी। साथ ही इन परिवारों के एक-एक सदस्य को नौकरी भी दी जाएगी।

यह भी पढ़ें ...  अडानी मुद्दे पर हंगामे के बीच राज्यसभा 13 मार्च तक के लिए स्थगित, लोकसभा में कार्यवाही जारी

2022 में कश्मीर में 172 टेररिस्ट मारे गए आतंकियों ने 3 कश्मीरी पंडितों सहित 29 लोगों की हत्या की

कश्मीर में आतंकियों के साथ साल 2022 में सुरक्षाबलों की 93 मुठभेड़ हुई, जिनमें 172 आतंकी मारे गए। इनमें 42 विदेशी थे। वहीं, आतंकवादियों ने इस साल 29 नागरिकों की हत्या कर दी, जिनमें से 3 कश्मीरी पंडितों सहित 6 हिंदू थे। कश्मीर के ADGP विजय कुमार ने शुक्रवार को यह जानकारी दी है।

उन्होंने बताया कि मारे गए आतंकियों में सबसे ज्यादा 108 आतंकी लश्कर-ए-तैयबा और इसी से जुड़े संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट के थे।

राजौरी में सेना के अस्पताल के पास आतंकी हमला फायरिंग में 2 लोगों की मौत

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में शुक्रवार सुबह आर्मी अस्पताल के पास आतंकी हमला हुआ। फायरिंग में 2 लोगों की मौत हो गई। एक अन्य घायल है। पहले यह कहा जा रहा था कि फायरिंग सेना के जवान ने की है। अब सेना व्हाइट नाइट कोर के अधिकारियों ने यह स्पष्ट कर दिया है कि फायरिंग आतंकवादी ने की है।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button