उत्तर प्रदेश

AMU के इतिहास का बड़ा फैसला, नईमा अख्तर 100 साल में बनीं पहली महिला वीसी

अलीगढ़। AMU Vice Chancellor: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के वीमेंस कॉलेज की प्रिंसिपल प्रो. नईमा खातून नई कुलपति बन गई हैं। एएमयू के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी महिला को कुलपति बनाया गया है।

पांच महीने पहले पैनल राष्ट्रपति यानी विजिटर को भेजा गया था। इस पर सभी की निगाहें भी लगी हुई थीं। चुनाव आयोग की अनुमति के बाद यह पत्र शिक्षा मंत्रालय की ओर से जारी कर दिया गया है। उन्होंने सोमवार की रात कार्यवाहक कुलपति प्रो. मो. गुलरेज से कार्यभार भी संभाल लिया। प्रो. गुलरेज उनके पति हैं।

एएमयू में वीसी पैनल की प्रक्रिया पूरी होने के बाद नवंबर में पूरी होने के बाद प्रो. फैजान मुस्तफा, प्रो. एमयू रब्बानी और प्रो. नईमा खातून का नाम केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय को भेजा गया था। लोकसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता को देखते हुए यह कयास लगाए जा रहे थे कि चुनाव बाद ही कुलपति की नियुक्ति के आदेश जारी होंगे। सोमवार को रात इस संबंध में आदेश जारी हो गए।

यह भी पढ़ें ...  लखनऊ: अभिनेता रजनीकांत ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर मुलाकात की।

10 वर्ष से थीं वीमेंस कॉलेज की प्रिंसिपल

प्रो. नईमा खातून ने जुलाई 2014 में वीमेंस कॉलेज के प्रिंसिपल के रूप में शामिल होने से पहले मनोविज्ञान विभाग के प्रोफेसर और अध्यक्ष के रूप में कार्य किया। वह जुलाई 2006 से प्रोफेसर हैं। अप्रैल 1998 से एसोसिएट प्रोफेसर और अगस्त 1988 से प्रवक्ता थीं। उनके पास राजनीतिक मनोविज्ञान में पीएचडी की डिग्री है।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button