खेलराष्ट्रीय

बिना मास्क मैत्री बाग में एंट्री होगी बैन नए साल से सख्ती से लागू होगा कोविड प्रोटोकॉल

बिना मास्क मैत्री बाग में एंट्री होगी बैन नए साल से सख्ती से लागू होगा कोविड प्रोटोकॉल भिलाई स्टील प्लांट प्रबंधन द्वारा स्थापित किए गए मैत्री बाग चिड़िया घर में फिर से सख्ती के साथ कोविड प्रोटोकॉल लागू किया जाएगा। इसके लिए मौखिक आदेश मिल चुके हैं। प्रबंधन का कहना है कि नए साल से पार्क में बिना मास्क के एंट्री नहीं दी जाएगी। अगर आप नए साल में अपने परिवार या मित्रों के साथ पिकनिक मनाने मैत्री बाग जू जाने का प्लान बना रहे हैं तो आपको कोविड गाइड लाइंस का पालन करना होगा।

आपको जू के अंदर प्रवेश तभी मिलेगा जब आप मास्क लगाकर जाएंगे। बिना मास्क आपको अंदर नहीं जाने मिलेगा। मैत्रीबाग जू के इंचार्ज डॉ. एनके जैन ने बताया कि उन्हें दुर्ग कलेक्टर से कोविड को लेकर सतर्कता बरतने के मौखिक निर्देश मिले हैं।

फिलहाल जिले या प्रदेश में ऐसा कोई खतरा नहीं है, लेकिन हमें पहले से इसके लिए सतर्कता बरतनी होगी। एक दो दिन में केंद्र या राज्य से कोविड प्रोटोकॉल को लेकर आदेश आने वाला है। आदेश मिलते ही नए साल से जू के अंदर कोविड नियमों को सख्ती के साथ लागू किया जाएगा।

यह भी पढ़ें ...  इंदौर में कोरोना से जंग हार गया युवा डॉक्टर, हार्ट अटैक से मौत

पार्क के अंदर नहीं बढ़ने दी जाएगी भीड़

डॉ. जैन ने कहा कि नए साल में मैत्री बाग में हजारों लोग पिकनिक मनाने आते हैं। इस दिन मैत्री बाग खचाखच लोगों से भरा रहता है। इसके साथ ही फरवरी माह में यहां फ्लावर शो का आयोजन किया जाता है। उसमें भी काफी भीड़ होती है। कोविड संक्रमण को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

जू को बंद नहीं किया जाएगा, लेकिन ऐसे समय में जू के अंदर छमता से कम ही लोगों को प्रवेश दिया जाएगा। जैसे भीड़ कम होगी तो बाकी लोगों को प्रेश दिया जाएगा। ऐसा करने से पार्क के अंदर भीड़ नहीं होगी और कोविड संक्रमण का खतरा भी कम होगा।

पर्यटकों का कराया जाएगा हैंड सेनेटाइज

जू में मास्क को अनिवार्य करने के साथ ही पर्यटकों का हैंड सेनेटाइज कराने की भी व्यस्था की जाएगी। जैसे ही पर्यटक जू के अंदर प्रवेश करेंगे पहले उनका हैंड सेनेटाइज कराया जाएगा। इसके बाद ही उन्हें आगे जाने की अनुमति होगी। इस दौरान उनका टंप्रेचर भी चेक किया जाएगा।

यह भी पढ़ें ...  सीएम योगी ने चित्रकूट धाम मंडल के विकास कार्यों को लेकर समीक्षा बैठक की

वन्य प्राणियों को भी रहता है संक्रमण का अंदेशा

डॉ. जैन ने बताया कि वन्य प्राणियों को भी कोविड संक्रमण का खतरा रहता है। इस वजह से मैत्री बाग जू को काफी संवेदनशील माना गया है। बिना मास्क मैत्री बाग में एंट्री होगी बैन नए साल से सख्ती से लागू होगा कोविड प्रोटोकॉल इस समय मैत्री बाग में 300 से अधिक वन्य प्राणी हैं। इसमें 5 टाइगर, 1 शेर, 1 तेंदुआ, 2 भालू व मगरमच्छ सहित सर्प, चिड़िया, बंदर और अन्य वन्य प्राणि हैं। इसे देखते हुए इन वन्य जीवों को प्रर्यटकों से दूर रखा जाएगा।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button