चंडीगढ़

दिवाली से पहले हरियाणा में सफाई कर्मचारियों को ‘मनोहर’ सौगात

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शरद पूर्णिमा व भगवान वाल्मीकि जयंती पर सफाई कर्मियों को दीवाली व हरियाणा दिवस का तोहफा देते हुए उनके लिए अनेक घोषणाएं की। इनमें शहरी सफाई कर्मियों का 16 हजार रुपये से 17 हजार रुपये मासिक मानदेय, ग्रामीण सफाई कर्मियों का 14 हजार रुपये से 15 हजार रुपये मासिक मानदेय, कस्सी, तसला व अन्य औजार के लिए 2 हजार रुपये वार्षिक तथा धुलाई भत्ता एक हजार रुपये करने की घोषणा शामिल है। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में जहां सफाई कर्मचारियों की संख्या 6 है, वहां 8 की जाएगी और जहां 8 है वहां 10 की जाएगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शनिवार को भगवान महर्षि वाल्मीकि जयंती पर पंचकूला में समस्त अनुसूचित जाति समाज द्वारा क्लास वन और टू अधिकारियों को पदोन्नति में आरक्षण का लाभ देने के लिए उनके सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। मुख्यमंत्री ने शरद पूर्णिमा व भगवान वाल्मीकि जयंती पर सफाई कर्मियों को दीवाली व हरियाणा दिवस का तोहफा देते हुए उनके लिए अनेक घोषणाएं की। इनमें शहरी सफाई कर्मियों का 16 हजार रुपये से 17 हजार रुपये मासिक मानदेय, ग्रामीण सफाई कर्मियों का 14 हजार रुपये से 15 हजार रुपये मासिक मानदेय, कस्सी, तसला व अन्य औजार के लिए 2 हजार रुपये वार्षिक तथा धुलाई भत्ता एक हजार रुपये करने की घोषणा शामिल है। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में जहां सफाई कर्मचारियों की संख्या 6 है, वहां 8 की जाएगी और जहां 8 है वहां 10 की जाएगी।

महर्षि वाल्मीकि के चलते ही भगवान राम मर्यादा पुरुषोत्तम कहलाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि सब लोग आगे बढ़ें, किसी के साथ भेदभाव न हो, समान भाव से हम गरीब व अंत्योदय परिवारों के आर्थिक, सामाजिक व शैक्षणिक स्थिति के उत्थान में लगे हुए हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि पदोन्नति में आरक्षण जहां विभागीय उच्चतम पदों की संख्या तीन हैं, वहां पर लागू होगी, एक पर नहीं होगी। एसोसिएशन द्वारा किसी विभाग में जल्द से जल्द यह व्यवस्था आरंभ करने की मांग पर मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि उन्होंने कल से ही इस पर कार्य शुरू कर दिया था और शिक्षा विभाग में पदोन्नति से उपनिदेशक के 6 पद भरे जाने हैं, जो सामान्य श्रेणी में आते हैं। 3 पद पर पदोन्नति हो सकती है और 3 खाली हैं। वरिष्ठता सूची में 11, 12 व 13 तीनों सामान्य वर्ग के हैं। अनुसूचित जाति के कर्मचारी का वरिष्ठता सूची में पता लगाया तो वह 30वें नंबर पर है। इसको 13 वें स्थान पर 20 प्रतिशत आरक्षण के हिसाब से उपर किया गया है और आत्मा प्रकाश जो अनुसूचित जाति से संबंधित है, को उपनिदेशक के पद पर आज से ही पदोन्नत किया गया है।

यह भी पढ़ें ...  लोकसभा में महिला आरक्षण बिल पेश होने के बाद चंडीगढ़ की महिलाओं में जश्न का माहौल

 

उन्होंने कहा कि क्लास-3 व क्लास-4 में पदोन्नति 2015 से लागू कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्धा में मैरिट से आगे बढ़ें और इस व्यवस्था में 20 प्रतिशत की बजाय 25 प्रतिशत आये और धीरे-धीरे रोस्टर के हिसाब से पदोन्नति होती रहेगी और एक दिन इस पॉलिसी की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button