राजनीतिराज्य

टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी ऋषभ पंत सड़क

Rishabh Pant Accident : टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी ऋषभ पंत सड़क हादसे में बाल-बाल बच गए. दिल्ली-देहरादून हाइवे पर उनकी कार डिवाइडर में जा घुसी और उसके बाद वो सड़क पर ही पलट गई. बड़ी बात ये है कि कार में आग भी लग गई लेकिन इसके बावजूद ये खिलाड़ी सही सलामत है. पंत को चोट जरूर आई हैं लेकिन उनकी जान बच गई यही सबसे अहम बात है. हालांकि सवाल ये है कि आखिर पंत की जान बची कैसे? किसने पंत की मदद की और कार हादसे के तुरंत बाद उनके साथ क्या हुआ?

आपको बता दें ऋषभ पंत की जान उनकी सूझबूझ से ही बची. जब पंत की कार पलटी और उसमें आग लगी तो इस खिलाड़ी ने हिम्मत नहीं हारी. पंत ने खुद को बचाने के लिए वो किया जो अच्छे-अच्छे लोग नहीं कर पाते हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक पंत खुद कार के शीशे तोड़कर उससे बाहर निकले.

ऋषभ पंत ने खुद बचाई अपनी जान

ऋषभ पंत की BMW कार डिवाइडर से टकराई और इसमें इस खिलाड़ी की ही गलती बताई जा रही है. रिपोर्ट्स के मुताबिक पंत को गाड़ी चलाने हुए नींद आ गई और अचानक वो कार से नियंत्रण गंवा बैठे. कार सीधे डिवाइडर और खंभों को तोड़ते हुए निकल गई. इसके बाद वो सड़क पर पलट गई और फिर उसमें आग लग गई. इतना सबकुछ होने के बावजूद पंत ने हार नहीं मानी और ना ही वो घबराए. इस खिलाड़ी ने कार के शीशे तोड़े और वो बाहर आ गए.

यह भी पढ़ें ...  यूपी में अखिलेश यादव की जनसभा में भगदड़;

पंत जैसे ही बाहर निकले कार धू-धू कर जलने लगी और कुछ ही पलों में वो खाक हो गई. पंत ने बहादुरी तो दिखाई ही साथ में उन्हें किस्मत का साथ भी मिला कि वो हादसे के बाद बेहोश नहीं हुए नहीं तो अनहोनी हो सकती थी.

पंत को देहरादून ले जाया गया

ऋषभ पंत जब कार से बाहर निकले तो वहां के स्थानीय लोगों ने उन्हें पास के अस्पताल पहुंचाया. इसके बाद उन्हें देहरादून के मैक्स अस्पताल रेफर कर दिया गया. पंत के सिर, हाथ और पांव में चोट आई है. उनकी पीठ पर भी चोट लगी है. बताया जा रहा है कि उनके पांव में फ्रैक्चर है लेकिन उनकी हालत खतरे से बाहर है. पंत को ठीक होने में 2 से 3 महीने लग सकते हैं. मुमकिन है कि इस हादसे के बाद अब वो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज में नहीं खेल पाएंगे.

Post Views: 5


Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button