राष्ट्रीय

महादयी जल विवाद: कर्नाटक को पानी देने वाले बयान पर भड़के गोवा भाजपा के मंत्री

भाजपा सरकार के मंत्री नीलेश काबराल ने कहा, हमारे मुख्यमंत्री ने महादयी नदी के पानी को मोड़ने पर कोई सहमति नहीं दी है। मुझे पता है कि वह (सावंत) कभी नहीं करेंगे। मुझे नहीं पता कि केंद्रीय गृहमंत्री किस बारे में बात कर रहे थे।

महादयी नदी के पानी के बंटवारे को लेकर गोवा और कर्नाटक के बीच लंबे समय से विवाद है। इसको लेकर गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि महादयी के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। हालांकि, गृहमंत्री अमित शाह के एक बयान ने मामले को उलझा दिया है।

अमित शाह ने कहा है कि महादयी नदी जल विवाद हल कर दिया गया है और नदी का पानी दक्षिणी राज्य को दे दिया गया है। शाह के इस बयान पर गोवा के पीडब्ल्यूडी मंत्री नीलेश काबराल भड़क गए हैं। उन्होंने कहा है कि हम नदी के पानी को कभी भी बाहर डायवर्ट नहीं होने देंगे।

यह भी पढ़ें ...  अदाणी मामले पर फिर हंगामे के आसार, कांग्रेस आज देशभर में करेगी प्रदर्शन

भाजपा मंत्री ने की शाह के बयान की निंदा
भाजपा सरकार के मंत्री नीलेश काबराल ने कहा, हमारे मुख्यमंत्री ने महादयी नदी के पानी को मोड़ने पर कोई सहमति नहीं दी है। मुझे पता है कि वह (सावंत) कभी नहीं करेंगे। मुझे नहीं पता कि केंद्रीय गृहमंत्री किस बारे में बात कर रहे थे। हम बेसिन के भीतर पानी के उपयोग के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन हम इसे कभी भी बाहर डायवर्ट नहीं होने देंगे। उन्होंने आगे कहा, अगर भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व महादयी मुद्दे पर गोवा का समर्थन नहीं करता है, तो राज्य डायवर्जन को रोकने के लिए कानूनी सहारा ले सकता है।

शाह ने क्या कहा था
दरअसल, गृहमंत्री अमित शाह ने बीते शनिवार को बेलगाम में भाजपा की जन संकल्प यात्रा को संबोधित करते हुए कहा था, मैं आपको बताना चाहता हूं कि भाजपा ने दोनों राज्यों के बीच लंबे समय से चल रहे विवाद को हल करके कर्नाटक को महादयी का पानी दिया है और इस तरह यह सुनिश्चित किया है कि यहां के कई जिलों में किसान को लाभ हो।

विपक्षी दलों ने मांगा इस्तीफा
गृहमंत्री अमित शाह की टिप्पणियों का हवाला देते हुए विपक्षी दल गोवा की भाजपा नीती पर सरकार की आलोचना कर रही है। कांग्रेस, गोवा फॉरवर्ड पार्टी, आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस ने इस मुद्दे पर सीएम सावंत के इस्तीफे की मांग की है। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने सोमवार को सावंत की ‘चुप्पी’ पर सवाल उठाया और शाह की टिप्पणी पर भाजपा और राज्य सरकार से स्पष्टीकरण मांगा।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button