अपराधपंजाब

सफ़ाई सेवक से 5000 रुपए प्रति महीना रिश्वत मांगने के दोष अधीन नगर निगम लुधियाना का नंबरदार विजीलैंस द्वारा काबू

पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने राज्य में भ्रष्टाचार के विरुद्ध शुरु की मुहिम के अंतर्गत नगर निगम ज़ोन ए, लुधियाना के नंबरदार पंकज कुमार को एक सफ़ाई सेवक से 5000 रुपए प्रति महीना रिश्वत मांगने के दोष अधीन काबू किया है।

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि शिकायतकर्ता अशोक कुमार निवासी गाँव मत्तेवाड़ा, लुधियाना ने उक्त मुलजिम पंकज कुमार नंबरदार के खि़लाफ़ मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार विरोधी एक्शन लाईन में शिकायत दर्ज करवाई और दोष लगाया कि वह लुधियाना शहर के प्रेम व्यवहार इलाके में सफ़ाई सेवक के तौर पर सुबह 6 बजे से 11 बजे तक और दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक काम करता है। उसने आगे बताया कि 800 मीटर के घेरे में काम करने की हिदायतों के बावजूद, उसको 2400 मीटर का क्षेत्र दिया गया।

 

शिकायतकर्ता ने आगे दोष लगाया कि मुलजिम नंबरदार ने उसे ड्यूटी से पूरी तरह छूट देने के लिए 5000 रुपए महीना रिश्वत की माँग की, जिससे शिकायतकर्ता ने इन्कार कर दिया। इसके इलावा पंकज कुमार ने दोपहर की शिफ्ट में ड्यूटी से छूट देने के लिए 2000 रुपए प्रति महीना रिश्वत की माँग की।

यह भी पढ़ें ...  मेडिकल स्टोर में शटर और शीशा तोड़कर अंदर घुसा ट्रैक्टर-वीडियो

प्रवक्ता ने आगे बताया कि सबूतों समेत आनलाइन शिकायत दर्ज करवाई, जिसमें शिकायतकर्ता ने पंकज कुमार के साथ की सारी बातचीत रिकार्ड कर ली। इस रिकाडिंग में पंकज कुमार दोपहर की शिफ्ट में ड्यूटी से छूट देने के लिए 2000 रुपए प्रति महीना की बजाय 1000 रुपए लेने के लिए सहमत हो गया। लुधियाना के डी. एस. पी. विजीलैंस ब्यूरो यूनिट की तरफ से पड़ताल करने के उपरांत दोषों की पुष्टि हो गई।

 

उन्होंने आगे बताया कि इस सम्बन्धी शिकायतकर्ता से 2000 रुपए प्रति महीना रिश्वत मांगने के दोष अधीन मुलजिम पर भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की धारा 7 अधीन एफ. आई. आर नंबर 30 तारीख़ 7. 12. 23 को विजीलैंस ब्यूरो थाना लुधियाना रेंज में मुकदमा दर्ज किया गया है। मुलजिम नंबरदार पंकज कुमार को गिरफ़्तार कर लिया गया है और उसे कल माननीय अदालत में पेश किया जायेगा। उन्होंने आगे बताया कि इस मामले की आगे जांच जारी है।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button