पंजाब

जी-20 सम्मेलन की मेज़बानी के लिए पंजाब तैयार

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने शुक्रवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को भरोसा दिलाया कि पंजाब सरकार राज्य में जी-20 सम्मेलन के दो सैशनों की सफलतापूर्वक मेज़बानी करके नया मील का पत्थर स्थापित करेगी।

प्रबंधों का जायज़ा लेने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता अधीन हुई वीडियो कान्फ़्रेंसिंग में भाग लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य खुशकिस्मत है कि जी-20 सम्मेलन के दो सैशनों में से पहले 15, 16 और 17 मार्च को शिक्षा के मुद्दे और दूसरा 22-23 जून को लेबर के मुद्दे पर होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य अपनी गरिमापूर्ण आतिथ्य के लिए विश्व भर में मशहूर है और इन समागमों के दौरान हिस्सा लेने वाले देशों के मेहमानों का स्वागत करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी। भगवंत मान ने बताया कि यह समागम अमृतसर की पवित्र धरती पर होंगे, जहाँ रोज़ाना के लाखों की संख्या में संगत श्री दरबार साहिब, दुर्ग्याना मंदिर, जलियांवाला बाग़ और अन्य स्थानों पर माथा टेकती है।

मुख्यमंत्री ने नरेंद्र मोदी को भरोसा दिलाया कि राज्य सरकार जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले आदरणियों के आरामदायक ठहराव के लिए विस्तृत प्रबंध करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में आरामदायक ठहराव यकीनी बनाने के इलावा मेहमानों को रिवायती पंजाबी खाना खिलाया जायेगा और शाम को सांस्कृतिक समागमों के दौरान उनको अमीर पंजाबी संस्कृति की झलक भी दिखाई जायेगी। भगवंत मान ने कहा कि अगर आदरणिय स्पोर्टस हब जालंधर की तरह राज्य के अन्य जिलों का दौरा करना चाहेंगे तो उनकी यात्रा के लिए भी पुख़्ता प्रबंध किये जाएंगे।

यह भी पढ़ें ...  Budget: नाराज दिखे CM मान, बोले- कर्तव्य पथ से झांकी और अब बजट से पंजाब गायब

यह भी पढ़ें :
पंजाब से बड़ी खबर : तरनतारन में पुलिस थाने पर रॉकेट लॉन्चर से हमला – देखें वीडियो

मुख्यमंत्री ने नरेंद्र मोदी को बताया कि राज्य सरकार ने जी-20 समागम को सुचारू ढंग से पूरा करने के लिए पहले ही कई कमेटियाँ गठित की हुई हैं। कैबिनेट सब-कमेटी भी इस सम्बन्धी तैयारियों पर रोज़ाना के आधार पर निगरानी रख रही है। भगवंत मान ने कहा कि पंजाब के इलावा अन्य राज्यों में, जहाँ पंजाब से पहले समागम होंगे, अधिकारी वहाँ का दौरा कर कर किये गए प्रबंधों का जायज़ा लेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य यह प्रतिष्ठित जी-20 समागम करवाने के लिए पूरी तरह तैयार है, जोकि राज्य में अंतरराष्ट्रीय पर्यटन को और बढ़ावा देगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस समागम में हर पंजाबी को शामिल करेगी जिससे राज्य की गौरवमयी विरासत से सभी आदरणियों को रूबरू कराया जा सके। भगवंत मान ने कहा कि यह यकीनी बनाने के लिए हर संभव कोशिश की जायेगी कि दौरे पर आया प्रतिनिधिमंडल राज्य में अपने ठहराव सम्बन्धी शानदार यादें लेकर जाये।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button