चंडीगढ़

होटलों में अनैतिक काम रोकने का संयुक्त अभियान,पुलिस और OYO ने की साझेदारी

चंडीगढ़: पुलिस विभाग ने OYO के साथ साझेदारी में मानव तस्करी के साथ ही अनैतिक गतिविधियों के खिलाफ अपनी जंग में एक विशेष अभियान की शुरुआत की है। यह अभियान चंडीगढ़, मोहाली और पंचकुला के होटलों में चलाया जाएगा। इस पहल के रूप में, पुलिस उन लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई को सर्वोच्च प्राथमिकता देगी, जो ओयो(OYO )के ब्रैंड का अवैध रूप से उपयोग कर रहे हैं।

 

ओयो(OYO ) ब्रैंड अपने मेहमानों के लिए सुरक्षित प्रवास सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। यही वजह है कि कंपनी ने इन तीनों शहरों के होटलों में अनैतिक गतिविधियों के खिलाफ जंग के लिए पुलिस के साथ साझेदारी में एक सेमिनार का आयोजन किया, जिसका उद्देश्य जागरूकता बढ़ाने, हितधारकों को शिक्षित करने और इसके सहयोग के अनुरूप दृष्टिकोण को बढ़ावा देना रहा। इस सेमिनार में शहर के शीर्ष पुलिस अधिकारियों सहित 70 से अधिक ओयो (OYO )होटल संचालकों की भागीदारी दर्ज की गई। यह पहल अपने पार्टनर होटल्स में किसी भी प्रकार की अनैतिक गतिविधि के खिलाफ ओयो(OYO ) की जीरो टॉलरेंस नीति पर प्रकाश डालती है।

 

नरेंद्र चौधरी, पुलिस उपाधीक्षक, मोहाली, सेमिनार में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। उन्होंने सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा, “देश की अर्थव्यवस्था के विकास में होटल इंडस्ट्री की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है। ओयो (OYO )ने भारत में आम लोगों के लिए सुविधाजनक और किफायती मूल्यों पर होटल में ठहरने की व्यवस्था को सुलभ बना दिया है। ओयो से संबद्ध होटल्स में घर जैसा माहौल मिलता है, जो इसे अन्य होटल्स की भीड़ से अलग करता है, और इसलिए यहाँ पर सुरक्षित वातावरण बनाना बेहद जरुरी है।”

 

यह भी पढ़ें ...  कुलदीप कुमार ने चंडीगढ़ नगर निगम के मेयर का पद संभाला

उन्होंने अपने पार्टनर्स और (OYO ) होटल्स में निगरानी रखने के रूप में हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री की भूमिका पर भी अपने विचार साझा किए, ताकि होटल्स में सेफ्टी प्रोटोकॉल्स को बढ़ावा देने में पुलिस को मदद मिल सके। इसमें होटल और उसके आसपास के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज की नियमित निगरानी व स्टोरेज, और होटल मालिकों द्वारा होटल में दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों की गहन निगरानी करना शामिल है। इसके साथ ही, उन्होंने स्वागत क्षेत्रों को रोशन करने और शीर्ष पुलिस अधिकारियों एवं नजदीकी पुलिस स्टेशन की सूची पहले से तैयार रखने का भी अनुरोध किया, ताकि मदद की आवश्यकता होने पर किसी परेशानी का सामना न करना पड़े।

 

वरुण जैन, चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर, ओयो, ने कहा, “ओयो (OYO )हमेशा ही अपने मेहमानों के लिए एक सुरक्षित वातावरण प्रदान करने को प्राथमिकता देता है, जिसमें सख्त सेफ्टी प्रोटोकॉल्स और नियमित ऑडिट से लेकर कर्मचारियों को गहन प्रशिक्षण प्रदान करना शामिल है। हम पुलिस के साथ साझेदारी में उन होटल्स के खिलाफ एक संयुक्त अभियान की शुरुआत कर रहे हैं, जो ओयो(OYO )ब्रैंड का उपयोग अवैध रूप से कर रहे हैं। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि मेहमानों को अपने प्रवास के दौरान किसी भी असहजता का सामना न करना पड़े।”

यह भी पढ़ें ...  पंजाब सरकार की नई मुहिम, स्‍टूडेंट्स को बनाया जाएगा 'पुलिस कैडेट', ये है पूरा प्‍लान

 

ओयो (OYO )के पास एक सुदृढ़ सेफ्टी और सिक्योरिटी सिस्टम है, जो यह सुनिश्चित करता है कि उसके प्लेटफॉर्म पर सूचीबद्ध होटल्स को उन सुरक्षा संबंधी कानूनों और दिशानिर्देशों का गहनता से पालन करना होगा, जिन्हें स्थानीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा जारी किया गया है। यह अपने होटल पार्टनर्स और उनके कर्मचारियों को सेफ्टी और सिक्योरिटी संबंधी नियमित प्रशिक्षण भी प्रदान करता है, ताकि वे मेहमानों से उत्तम व्यवहार करें तथा असामान्य चेक-इन पैटर्न्स जैसी गतिविधियों पर नज़र रखें और उचित कार्रवाई करें।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button