राजनीति

टीटीपी आतंकियों का थाने पर बड़ा हमला, तीन पुलिसकर्मियों की मौत

पड़ोसी देश पाकिस्तान इन दिनों गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहा है, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान में आतंकी घटनाएं भी थमने का नाम नहीं ले रही हैं। बता दें कि आतंकी संगठन तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान के ताजा हमले में तीन पुलिसकर्मी मारे गए हैं।

बता दें कि टीटीपी ने पाकिस्तान के पेशावर में एक पुलिस स्टेशन पर हमला बोल दिया, जिसमें गोलीबारी में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी समेत कुल 3 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई।

पेशावर के एसएसपी कासिफ अब्बासी ने बताया कि दरअसल छ से सात हथियारबंद आतंकियों ने पेशावर के सरबंद पुलिस स्टेशन पर हैंड ग्रेनेड, स्वचालित हथियारों और स्नाइपर हथियारों की मदद से बड़ा हमला किया। इस हमले के दौरान क्रॉस फायरिंग में 3 पुलिसकर्मी मारे गए।

आतंकी संगठन तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। हमले में मारे गए पुलिसकर्मियों में डिप्टी सुपरीटेंडेंट ऑफ पुलिस सरदार हुसैन और दो कॉन्सटेबल शामिल हैं।

खैबर पख्तूनवा के मुख्यमंत्री महमूद खान ने हमले की निंदा की और कहा कि आतंक के खिलाफ लड़ाई में पुलिसकर्मियों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा। आतंकियों की तलाश में इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है। वहीं टीटीपी ने इस हमले में 4 पुलिसकर्मियों के मारे जाने और 3 पुलिसकर्मियों के घायल होने का दावा किया है।

साथ ही दो क्लाश्निकोव और मैगजीन और 47 हजार पाकिस्तानी रुपए लूटने का दावा किया। टीटीपी ने डेरा गाजी खान जिले में तुनसा शरीफ तहसील में पुलिस चेकपोस्ट पर हमले की भी जिम्मेदारी ली है।

यह भी पढ़ें ...  जम्मू से भी ठंडा बिहार-राजस्थान राजधानी दिल्ली में 20 फ्लाइट और 36 ट्रेनें लेट रहीं मप्र में पारा और गिरेगा

बता दें कि टीटीपी विभिन्न कट्टरपंथी संगठनों का ग्रुप है, जो अफगानिस्तान पाकिस्तान की सीमा से संचालित होता है। साल 2007 में टीटीपी बना और हाल के दिनों में यह आतंकी संगठन लगातार पाकिस्तान में आतंकी हमलों को अंजाम दे रहा है।

टीटीपी ने बीते साल नवंबर के अंत में पाकिस्तान की सेना के साथ संघर्ष विराम खत्म कर दिया था। जिसके बाद से यह आतंकी संगठन लगातार पाकिस्तान की सेना और सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले कर रहा है।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button