राष्ट्रीय

मोदी के खिलाफ पीएम पद के उम्मीदवार हो सकते हैं राहुल गांधी

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 2024 के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ राहुल गांधी के चुनौती बनने को लेकर बयान दिया है। दरअसल, शाह से पूछा गया था कि क्या वे राहुल गांधी को पीएम पद का दावेदार मानते हैं, इस पर उन्होंने कहा है कि अभी तीन राज्यों में चुनाव आ रहे हैं।

यह साफ हो जाएगा कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का क्या असर रहा है। 2024 के लोकसभा चुनाव में मुख्य विपक्ष किसे मानते हैं, इस सवाल के जवाब में अमित शाह ने कहा कि यह देश की जनता तय करेगी। अभी तक जनता ने किसी को भी मुख्य विपक्षी दल नहीं बनाया है।

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के बाद राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार माना जा रहा है, इस सवाल पर अमित शाह ने कहा कि जल्द ही तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं और उनके नतीजों से पता चल जाएगा कि भारत जोड़ो यात्रा का क्या प्रभाव रहा। त्रिपुरा, नागालैंड और मेघालय में इस महीने के अंत में ही चुनाव होने हैं और 16 फरवरी को मतदान होना है।

यह भी पढ़ें ...  नए संसद भवन के उद्घाटन पर बोले गुलाम नबी आजाद, विरोध करने वालों को दिखाया आईना

गुजरात दंगे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित भूमिका को लेकर बीबीसी ने बीते दिनों एक डॉक्यूमेंट्री रिलीज की थी। इस पर अमित शाह ने कहा कि हजारों साजिशों के बावजूद सच सामने आ जाएगा। वो 2002 के बाद से ही मोदी जी के पीछे हैं लेकिन हर बार मोदी जी पहले के मुकाबले ज्यादा मजबूत और लोकप्रिय होकर उभरते हैं।

त्रिपुरा चुनाव पर अमित शाह ने कहा कि त्रिपुरा में वोट शेयर भी बढ़ाएंगे और सीटें भी बढ़ाएंगे। त्रिपुरा में कांग्रेस और कम्यूनिस्ट पार्टी दोनों ही मानती हैं कि वह अकेले बीजेपी को नहीं हरा सकते, इसलिए दोनों ने गठबंधन कर लिया है। हम इतने ताकतवर हो गए हैं कि कोई हमसे अकेले नहीं लड़ना चाहता।

अमित शाह ने कहा कि उनकी सरकार ने उत्तर पूर्वी राज्यों के विकास के लिए काफी काम किया है। सरकार ने कई उग्रवादी संगठनों के साथ समझौते किए हैं और 8000 हथियारबंद उग्रवादियों ने समर्पण किया है। पहले उत्तर पूर्वी राज्यों की पहचान बंद, बमबारी और उग्रवाद के चलते थे, वहां आज सड़कें, रेल और बुनियादी ढांचे के विकास पर जोर दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें ...  इज़राइल से 274 भारतीय नागरिकों को लेकर चौथी उड़ान दिल्ली पहुंची।

आठ साल के समय में ही पीएम मोदी ने 51 बार उत्तर पूर्वी राज्यों का दौरा किया है। देश की आजादी के बाद यह किसी भी प्रधानमंत्री द्वारा किए गए उत्तर पूर्वी राज्यों के दौरों में सबसे ज्यादा है। हर 15 दिन के अंतराल पर किसी ना किसी केंद्रीय मंत्री को भी उत्तर पूर्वी राज्यों का दौरा करने के निर्देश हैं।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button