आज की ख़बरधर्म आस्थापंजाब

श्रीमद भागवत कथा के तीसरे दिन उमडा श्रद्वालुओं का जन सैलाब

मोहाली 14 मई। Shrimad Bhagwat Katha: मोहाली के फेस-5 स्थित श्री हरि मंदिर संकीर्तन सभा रजिस्टर्ड मोहाली में पिछले दो दिनों से चल रही श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ आज तीसरे दिन में प्रवेश कर गई। कथा के तीसरे दिन एक ओर जहां श्रीमद भागवत कथा व्यास श्री नगली दरबार के संत स्वामी सुरेश्वरानंद पुरी जी महाराज ने पिता और बेटे के बीच के रिश्ते को बताते और बेटे की ओर से पिता के लिए कुर्बानी देने वाली कहानी देववर्त यानि महाभारत के भिष्म पिताह के जीवन भर विवाह न करने के सकंलप के बारें में जानकारी दी,

 

उन्होंने ने पिता भीष्म द्वारा कुरूक्षेतर पर बाणों की सैया पर पडे समय की कहानी का ब्यान करते हुए कहा कि कुरूक्षेतर में भी गंगा आई, लेकिन उनका नाम भागीरथी गंगा नहीं बल्कि बाण गंगा नाम पडा। इसके अलावा श्रीमद भागवत कथा के तीसरे दिन मंदिर परिसर में श्रद्वालुओं का जन सैलाब उमडा और मंदिर प्रांगण श्रद्वालुओं से पूरी तरह से भरा रहा व सभी श्रद्वालु पूरी श्रद्वा-भाव से कथा का आनंद लिया।

यह भी पढ़ें ...  फाजिल्का जिले के प्रभारी सचिव मनवेश सिंह सिद्धू ने जिले की मंडियों का दौरा किया

संत स्वामी सुरेश्वरानंद पुरी जी महाराज ने श्रद्वालुओं को कथा का श्रवण करवाते हुए तीसरे दिन धु्रव चरितर के बारें में विस्तारपूर्वक जानकारी दी और श्रद्वालुओं को श्रीमद भागवत कथा के महत्तता पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि श्रीमद भागवत कथा के चौथे दिन श्री राम जन्म व श्री किशन जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। इस दौरान स्वामी जी ने मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों द्वारा निःस्वार्थ भाव से की जाने वाली सेवाओं और उत्तम व्यवास्था की प्रशंसा भी की। इस दौरान फेस-5 स्थित श्री हरि मंदिर संकीर्तन सभा रजिस्टर्ड मोहाली मौजूदा प्रधान महेश चन्द्र मनन और उनकी समूची टीम ने बताया कि श्री हरि जी की स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में 12 मई से लेकर 18 मई 2024 तक श्रीमद भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है,

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button