राजनीतिराज्यराष्ट्रीय

हिमाचल में पेट्रोल डीजल वाली गाड़ियां हटेंगी CM सुक्खू बोले 3 जिलों में ग्रीन सिटी प्रोजेक्ट लागू करेंगे

हिमाचल में पेट्रोल डीजल वाली गाड़ियां हटेंगी CM सुक्खू बोले 3 जिलों में ग्रीन सिटी प्रोजेक्ट लागू करेंगे

हिमाचल में अगले 5 साल में पेट्रोल डीजल से चलने वाली सभी सरकारी गाड़ियां हटा दी जाएंगी। इनकी जगह इलेक्ट्रिक व्हीकल लेंगे। यह बात प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर CM सुक्खू ने कही। उन्होंने कहा कि 3 जिलों में ग्रीन सिटी पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया जा रहा है।

शिमला, कांगड़ा और कुल्लू जिले में पेट्रोल-डीजल से चलने वाली सरकारी गाड़ियों को पहले चरण में बदला जाएगा। इस प्रोजेक्ट की सफलता के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने के निर्देश दे दिए गए हैं। अगली रिव्यू मीटिंग में यह चीजें आएंगी। इससे हिमाचल की आबोहवा अच्छी रहेगी।

दो फाड़ हो सकती है BJP कांग्रेस के संपर्क में कई नेता

CM सुक्खू ने कहा कि हमारे विधायक बिकने वाले नहीं हैं। हालांकि BJP यह नैरेटिव बनाने की कोशिश कर रही है कि कांग्रेस टूटेगी, लेकिन ऐसा नहीं होगा। BJP जरूर टूट सकती है। दोफाड़ हो सकती है।

यह भी पढ़ें ...  दुनिया भर में आलोचना के बाद चीन ने जारी किए कोरोना के आंकड़े, WHO ने किया स्वागत

कई नेता कांग्रेस के टच में हैं। खासकर कांग्रेस छोड़कर BJP में गए नेता वापसी को बेताब हैं।हिमाचल में पेट्रोल डीजल वाली गाड़ियां हटेंगी CM सुक्खू बोले 3 जिलों में ग्रीन सिटी प्रोजेक्ट लागू करेंगे

टूरिज्म और हाइड्रो सेक्टर की ओपन पॉलिसी

सुखविंदर सुक्खू ने कहा कि टूरिज्म और हाइड्रो सेक्टर के लिए ओपन पॉलिसी लाएंगे। इसके तहत इनवेस्टर्स को किसी तरह की क्लियरेंस लेने की जरूरत नहीं होगी, बल्कि सरकार खुद क्लियरेंस लेकर देगी। इनवेस्टर्स को इनवेस्ट करके 70% हिमाचलियों को रोजगार देना है।

ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देंगी स्वावलंबन योजना

सुखविंदर सुक्खू ने कहा कि वह ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए स्वावलंबन योजना शुरू करने जा रहे हैं। इस योजना के तहत सरकार प्रत्येक किसान से रोजाना 10 लीटर दूध खरीदेंगे। इस पर काम शुरू कर दिया है। दूध का रेट 100 रुपए लीटर होगा। इस तरह रोजाना प्रत्येक किसान की जेब में 1000 रुपए जाएगा।

इससे रोजगार की तलाश में घर छोड़ रहे युवक फिर से खेतीबाड़ी शुरू करेंगे। पशुपालन को स्वरोजगार के तौर पर अपनाएंगे। युवाओं को अपना घर छोड़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ऐसा करने से ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।

प्रतिभा सिंह हमारी सम्माननीय

सुक्खू ने कहा कि प्रतिभा सिंह पार्टी की अध्यक्षा हैं। अध्यक्ष सम्मानित होता है। उन्हें मुख्यमंत्री विधायकों ने चुना है। वह पहले विधायक थे। विधायक कांग्रेस पार्टी ने बनाया है। यह भारतीय जनता पार्टी का नैरेटिव था कि कांग्रेस गुटों में बंटी है।

यह भी पढ़ें ...  सुप्रीम कोर्ट ने कहा, अनुच्छेद-370 रद्द करने के खिलाफ दायर याचिकाओं को सूचीबद्ध करने पर विचार

बचपन से थी नेतृत्व की क्षमता सुक्खू

सुक्खू ने कहा कि उनमें नेतृत्व करने की क्षमता बचपन से थी, तभी क्लास रिप्रजेंटेटिव से यहां तक का सफर तय कर पाया हूं। उन्होंने कहा कि हमे कुछ वक्त दीजिए। प्रदेश को प्रगति की राह पर आगे ले जाएंगे। मूछों से कड़क जरूर लगता हूं, लेकिन स्वभाव ऐसा नहीं है।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button