पंजाब

Faridkot: बहिबल इंसाफ मोर्चा ने जाम किया नेशनल हाईवे

बरगाड़ी में सात साल पहले हुई श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी के बाद चल रहे शांतिपूर्ण धरने पर पुलिस ने फायरिंग की थी, जिसमें दो युवकों की मौत हो गई थी। इसी गोलीकांड व बेअदबी मामले में इंसाफ की मांग को लेकर पिछले लंबे समय से संघर्ष चला आ रहा है।

2015 के बरगाड़ी बेअदबी और इससे जुड़ी बहिबल कलां व कोटकपूरा गोलीकांड में इंसाफ की मांग को लेकर लंबे समय से चल रहे बहिबल इंसाफ मोर्चे द्वारा दिए गए अल्टीमेटम के तहत रविवार को नेशनल हाईवे अनिश्चतकालीन समय के लिए जाम कर दिया गया।

उल्लेखनीय है कि बरगाड़ी में सात साल पहले हुई श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी के बाद चल रहे शांतिपूर्ण धरने पर पुलिस ने फायरिंग की थी, जिसमें दो युवकों की मौत हो गई थी। इसी गोलीकांड व बेअदबी मामले में इंसाफ की मांग को लेकर पिछले लंबे समय से संघर्ष चला आ रहा है। 16 दिसंबर 2021 को गोलीकांड में मारे गए कृष्ण भगवान सिंह के पुत्र सुखराज सिंह नियामीवाला द्वारा सिख संगत के सहयोग से बहिबल इंसाफ मोर्चा शुरू किया गया था।

यह भी पढ़ें ...  पंजाब में NH पर सफर मंहगा: टोल दरों में 10 रुपये तक की बढ़ोतरी, 31 मार्च रात 12 बजे से लागू होंगी नई दरें

जिसके एक वर्ष पूरे होने पर बहिबल कलां में 15 दिसंबर 2022 को अगामी संघर्ष शुरू किए जाने की घोषणा की गई थी और हाईवे भी जाम किया गया था। 19 दिसंबर को धुंध व लोगों को होने वाली परेशानी को देखते हुए जाम को समाप्त कर दिया गया था। हालांकि मोर्चा जारी था। मोर्चे द्वारा सरकार को पांच फरवरी तक का समय दिया गया था। लेकिन इस संबंध में कोई संतुष्टिजनक कार्रवाई न होने के चलते रविवार को पहले सिख संगत एकत्रित हुई और फिर आगामी संघर्ष शुरू करते हुए अनिश्चितकालीन समय के लिए हाईवे जाम कर दिया गया।

इस दौरान सुखराज सिंह नियामीवाला ने कहा कि उनके द्वारा सरकारों को लंबा समय दिया जा चुका है और अब उनके पास संघर्ष के अतिरिक्त कोई और रास्ता नहीं रह गया है। अब सिख संगत पीछे नहीं हटेगी और इंसाफ मिलने तक संघर्ष जारी रहेगा।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button