पंजाब

पंजाब पुलिस का बड़ा दावा : 7.60 किलो हेरोइन,1.47 लाख रुपए की ड्रग मनी समेत 234 नशा तस्कर काबू

चंडीगढ़, 14 मार्च: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के नशों के खात्मे के निर्देश पर नशों के खि़लाफ़ निर्णायक लड़ाई नौवें महीने में प्रवेश कर चुकी है, पंजाब पुलिस ने 5 जुलाई, 2022 से अब तक 1628 बड़े तस्करों समेत 11360 नशा-तस्करों को गिरफ़्तार किया है। पुलिस ने कुल 8458 प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज की हैं, जिनमें से 962 व्यावसायिक मात्रा से संबंधित हैं।

पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) मुख्यालय सुखचैन सिंह गिल ने मंगलवार को यहां अपने साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि पुलिस टीमों ने नशा प्रभावित क्षेत्रों में घेराबंदी और तलाशी अभियान चलाकर राज्य भर से 612.78 किलोग्राम हेरोइन बरामद की है। इसके अलावा राज्य भर में संवेदनशील मार्गों पर नाके भी लगाए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त, पंजाब पुलिस की टीमों द्वारा गुजरात और महाराष्ट्र के बंदरगाहों से 147.5 किलोग्राम हेरोइन बरामद की गई, जिससे केवल आठ महीनों में हेरोइन की कुल प्रभावी बरामदगी 760.28 किलोग्राम हो गई।

 

आईजीपी ने कहा कि भारी मात्रा में हेरोइन ज़ब्त करने के अलावा, पंजाब पुलिस ने राज्य भर से 464.18 किलोग्राम अफीम, 586 किलोग्राम गांजा, 270 क्विंटल पोस्त, और 53.73 लाख टैबलेट/कैप्सूल/इंजेक्शन/फार्मा ओपिऑयड की शीशियाँ भी बरामद की हैं। पुलिस ने इन आठ महीनों में गिरफ्तार किए गए नशा तस्करों के कब्जे से 10.36 करोड़ रुपए की ड्रग मनी भी बरामद की है।

आईजीपी ने साप्ताहिक अपडेट देते हुए बताया कि पिछले एक सप्ताह में पंजाब पुलिस ने 22 व्यवसायिक समेत 189 प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज कर 234 नशा तस्करों/आपूर्तिकर्ताओं को गिरफ्तार किया है और 7.60 किलोग्राम हेरोइन, 10.30 किलोग्राम अफीम बरामद की है। इनके कब्जे से 13.87 किग्रा गांजा, 2.80 क्विंटल पोस्त और 59271 टैबलेट/कैप्सूल/इंजेक्शन/वायल्स के अलावा 1.47 लाख रुपए की ड्रग मनी बरामद की गई है। उन्होंने कहा कि पिछले एक सप्ताह में एनडीपीएस मामलों में 25 और घोषित अपराधियों (पीओ)/भगोड़ों को गिरफ्तार करने के साथ 5 जुलाई, 2022 को पी.ओज़./भगोड़ों को गिरफ्तार करने के लिए विशेष अभियान शुरू होने के बाद से गिरफ्तारियों की कुल संख्या 749 तक पहुँच गई है।

यह भी पढ़ें ...  मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील कि वे पंजाब को देश को अग्रणी राज्य बनाने के लिए 'काम की राजनीति' का समर्थन करें

जि़क्रयोग्य है कि पुलिस महानिदेशक (डीजीपी), पंजाब गौरव यादव ने सभी सी.पीज़/एसएसपीज़ को सख़्त हिदायतें दी थीं कि वह हरेक मामले, ख़ास तौर पर नशों की बरामदगी से जुड़े मामलों की बारीकी से पड़ताल करें, भले ही उनसे मामूली मात्रा में ही ड्रग्स बरामद की गई हों।

इस बीच, पंजाब को नशा मुक्त राज्य बनाने के लिए मुख्यमंत्री पंजाब भगवंत मान के निर्देश पर पंजाब पुलिस द्वारा सीमावर्ती राज्य से नशों के खतरे से निपटने के लिए व्यापक नशा विरोधी मुहिम शुरू की गई है। डीजीपी ने सभी सीपी/एसएसपी को सख़्ती से आदेश दिया है कि वे अपने अधिकार क्षेत्र में सभी हॉटस्पॉट्स और सभी शीर्ष ड्रग तस्करों की पहचान करें, जहां ड्रग्स का प्रचलन है। उन्होंने पुलिस प्रमुखों को गिरफ्तार किए गए सभी नशा तस्करों की संपत्ति को प्रभावी ढंग से ज़ब्त करने के भी निर्देश दिए, ताकि उनकी अवैध कमाई की वसूली की जा सके।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button