राजनीति

MP के ग्वालियर में पुलिस ने दिया नए साल का तोहफा नए साल के पहले दिन 77 लोगों को खोए हुए मोबाइल वापस मिले

MP के ग्वालियर में  नए साल के पहले दिन पुलिस ने शहर वासियों को गिफ्ट के रूप में उनके चेहरे पर खुशियां लौटाई हैं। शहर के 77 लोगों को उनके खोए मोबाइल वापस लौटाए हैं। कुछ लोग तो ऐसे थे जिनके जीवन में उन्होंने पहली बार मोबाइल लिया था, लेकिन वह चोरी या खो गया था।

अब नए साल के पहले दिन मोबाइल पाकर उनकी आंखों से आंसु झलक आए। इतना ही नहीं जिनको मोबाइल वापस मिले हैं उन्होंने इसे नए साल में पुलिस की तरफ ये गिफ्ट माना है। क्योंकि वह तो चोरी गए मोबाइल के वापस मिलने की उम्मीद ही भूल गए थे।

एसएसपी अमित सांघी ने बताया कि आज नए साल को पुलिस ने 77 मोबाइल उनके मालिकों को वापस किए है। जिसमें से अधिकतर मोबाइल गुम हुए थे और कुछ चोरी के है। बांटे गए मोबाइलों की कीमत करीब चौदह लाख रुपए है।

मोबाइल बरामद करने में उनकी साइबर सेल टीम प्रभारी एसआई रजनी रघुवंसी, प्रधान आरक्षक केपीएस यादव, संजय सिंह जादौन, आरक्षक जेनेन्द्र सिंह, आकाश पाण्डे, कपिल पाठक की सराहनीय भूमिका रही। इन लोगों ने साइबर सेल में आई शिकायतों के बाद इन मोबाइल को लोकेशन ट्रैस कर बरामद किया है। इसके बाद आज नए साल के मौके पर इनको असली धारकों को वापस लौटाए हैं।

यह भी पढ़ें ...  भूकंप से दहला इंडोनेशिया, रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 6.1 मापी गई

मोबाइल मिलते ही दोगुनी हुई नए साल की खुशी

रविवार को नए साल 2023 के पहले दिन पर जब खोए हुए मोबाइल वापस मिले तो नए साल की खुशी के साथ ही मोबाइल वापस मिलने की खुशी देखते ही बन रही थी। मोबाइल वापस पाने वालों में अधिकतर वह लोग थे जो मोबाइल गुम होने के बाद दूसरा मोबाइल नहीं खरीद सके थे। इनमें से कोई सब्जी का ठेला लगाता है तो कोई पान की गुमटी। दूसरा नया मोबाइल लेना उनके बस की बात नहीं थी।

इससे पहले धनतेरस पर बांटे थे मोबाइल

ग्वालियर पुलिस ने इसी साल 2022 की दीपावली के धनतेरस पर लोगों के गुम हुए मोबाइल वापस कर उन्हें खुश होने का मौका दिया था। वहीं वर्ष 2022 में पुलिस की साइबर सेल टीम ने करीब आठ सैकड़ा लोगों के मोबाइल वापस किए है। नए साल 2023 के पहले दिन 77 लोगों को करीब 14 लाख रुपए के मोबाइल लौटाए गए हैं।

यह भी पढ़ें ...  दिल्ली में आरोप तय नहीं लेकिन नौ साल की सजा, कोर्ट ने NIA से पूछा क्या मामला

इन्हें मिले मोबाइल

मोबाइल मिलने वालों में छात्र-छात्राओं के साथ ही वकील और डॉक्टर के साथ ही गृहिणी व मध्यमवर्गीय परिवार के लोग शामिल थे। पुलिस ने 77 मोबाइल लौटाए हैं। इनमें 30 फीसदी लोग ऐसे थे जिन्होंने पहली बार एन्ड्रॉयड मोबाइल खरीदा था और वह भीड़ में चोरी हो गया। इसके बाद उनकी हैसियत ही नहीं थी कि वह दूसरा मोबाइल खरीद सकें। अब मोबाइल मिलने पर उनको बहुत खुशी हो रही है।

 

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button