राज्यहरियाणा

हरियाणा विधानसभा का घेराव करने निकले ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पुलिस ने पंचकूला-चंडीगढ़ बॉर्डर पर रोका

हरियाणा विधानसभा का घेराव करने निकले ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पुलिस ने पंचकूला-चंडीगढ़ बॉर्डर पर रोका पंचकूला (उमंग श्योराण)। हरियाणा के ग्रामीण सफाई कर्मचारियों ने आज चण्डीगढ़ स्थित विधानसभा घेराव को किया कूच।

पंचकूला-चंडीगढ़ बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पुलिस ने रोका।

पुलिस द्वारा पंचकूला-चंडीगढ़ बॉर्डर पर हैवी बैरीगेटिंग कर प्रदर्शनकारियों रोका गया।

पंचकूला-चंडीगढ़ बॉर्डर पर ही ग्रामीण सफाई कर्मचारी दे रहे हैं धरना।

प्रदर्शनकारी ग्रामीण सफाई कर्मचारियों का 8 सदस्यी प्रतिनिधिमंडल बातचीत के लिए चंडीगढ़ में मंत्री देवेंद्र बबली से मुलाकात करने पहुंचा।

मुख्य मांगे………

16 बरस से कार्यरत ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पक्का किया जाए।

वेतन में ऊंच-नीच के भेद को खत्म करते हुए सभी का एक समान वेतन ₹24000 लागू किया जाए तथा वेतन को महंगाई भत्ते के साथ जोड़ा जाए।

400 की आबादी पर नए कर्मचारियों की भर्ती की जाए।

सफाई कर्मचारियों को काम के औजार ब्लॉक कार्यालय से देते हुए ₹500 महीना औजारभत्ता लागू किया जाए।

यह भी पढ़ें ...  सुरक्षा परिषद के पुनर्गठन से P-5 देशों के बीच शक्ति साझाकरण का मार्ग प्रशस्त होगा

एक वर्दी के बजाय दो वर्दी का भत्ता गर्मी और सर्दी का ₹8000 लागू किया जाए तथा धुलाई भत्ता दिया जाए।

हर महीने के 7 तारीख तक वेतन भुगतान किया जाए मुख्यमंत्री के आदेश अनुसार वेतन देरी पर ₹500 अतिरिक्त हर्जाना दिया जाए।

एक्स ग्रेशिया नीति के तहत मृत्यु पर सफाई कर्मचारी के परिवार से एक सदस्य को नौकरी दी जाए।

मिलने वाले 5लाख बीमा पॉलिसी लाभ की शर्तों को कम किया जाए।

बच्चों की शादी, मकान मरम्मत आदि के लिए आसान किस्तों पर ऋण की सुविधा करवाई जाए।

बच्चों की पढ़ाई के लिए शिक्षा भत्ता लागू करवाया जाए।

ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को भी दीपावली का बोनस दिया जाए।

डोर टू डोर के कर्मचारियों को ग्रामीण सफाई कर्मचारी के समान वेतन दिलाया जाए।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button