चंडीगढ़

चंडीगढ़ में बंदी सिखों की रिहाई को लेकर उग्र प्रदर्शन, पुलिस के साथ प्रदर्शनकारियों की झड़प;देखिए CCTV

चंडीगढ़। बंदी सिखों की रिहाई की मांग को लेकर मोहाली में धरना दे रहे प्रदर्शनकारियों और चंडीगढ़ पुलिस के बीच झड़प हो गयी। मामला बढ़ता देख पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और वाटर कैनन का भी प्रयोग किया गया।

जानकारी के अनुसार मोहाली में बंदी सिखों की रिहाई की मांग को लेकर धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी उग्र हो गए। इस दौरान उनकी चंडीगढ़ पुलिस के साथ झड़प हुई। प्रदर्शनकारियों ने अपने हाथों में तलवारें और डंडे लिए हुए थे। बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी बैरिकेडिंग तोड़ चंडीगढ़ की तरफ निकल गए इसी दौरान पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज कर दिया। इस बीच प्रदर्शनकारियों ने चंडीगढ़ और पंजाब पुलिस की गाड़ियों को तोड़ना शुरू कर दिया गया। उग्र प्रदर्शनकारियों ने तलवारों और डंडों से डरा कर पुलिस बल को पीछे भगा दिया।कुछ पुलिसकर्मी भी इस हिंसक वारदात में जख्मी हुए हैं।

लाठीचार्ज के बाद चंडीगढ़ पुलिस ने एक वीडियो जारी की है। जिसमें मोहाली बॉर्डर पर निहंग पुलिस की गाड़ियों को टारगेट कर रहे हैं। जिसमें वह तलवारें मारकर गाड़ियों को तोड़ रहे हैं। इस घटना में चंडीगढ़ पुलिस के कुछ जवान भी जख्मी हुए हैं। जिन्हें चंडीगढ़ के सेक्टर 16 अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मौके पर पहुंचे चंडीगढ़ के DGP प्रवीर रंजन ने बताया कि चंडीगढ़ में धारा 144 लगी हुई है जिसकी जानकारी प्रदर्शनकारियों को दे दी गई थी मगर यह चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री आवास की तरफ कूच करना चाहते थे। मुख्यमंत्री निवास हाई सिक्योरिटी ज़ोन में आता है। ऐसे में वहां किसी प्रकार का विरोध प्रदर्शन नहीं किया जा सकता।

 

चंडीगढ़ के DGP ने बताया कि कई प्रदर्शनकारियों के पास हथियार और डंडे, राड आदि थे। वहीं कई अन्य खतरनाक हथियार इनके पास थे। प्रदर्शनकारियों ने रोके जाने पर पुलिसकर्मियों पर हमला किया। कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button