अपराधचंडीगढ़

ड्रग्स बेचने का ऐसा तरीका पहले नहीं देखा होगा, चंडीगढ़ SSP ने किया खुलासा

चंडीगढ़ पुलिस के डिस्ट्रिक्ट क्राइम सेल की टीम ने एक ड्रग पैडलर को गिरफ्तार किया है। मूलरुप से उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के अजय कुमार (24) को पुलिस ने चंडीगढ़ के रायपुर खुर्द से गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक, वह दूध की डोली (स्टील कंटेनर) और क्रीम की डिब्बी में ड्रग को छिपा कर बेचता था ताकि किसी को शक न हो। उसके कब्जे से 255 ग्राम हेरोइन पकड़ी गई।

पुलिस ने रायपुर खुर्द में एक किराए के कमरे से छिपा कर रखी 1 किलो हेरोइन भी बरामद की है। रायपुर खुर्द में पुलिस पेट्रोलिंग के दौरान आरोपी अजय पुलिस के हत्थे चढ़ा। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि वह जीरकपुर और आसपास के एरिया में हेरोइन सप्लाई करता था।

इस तरह छिपा कर बेचता था ड्रग
आरोपी ड्रग को स्टील कंटेनर( दूध की डोली) में रख सप्लाई कर रहा था। विशेष रूप से 2 स्टील कंटेनर्स को जोड़ कर यह विशेष डोली बनाई गई थी। इसे घुमा कर खोलने पर ड्रग निकलती थी।कंटेनर के ऊपरी हिस्से में वह घी रखता था और नीचे ड्रग रखी होती थी। वहीं कम मात्रा में ड्रग सप्लाई करने के लिए एक कंपनी की छोटी डिब्बियां रखी हुई थी। जिनमें ऊपर कोल्ड क्रीम होती थी और नीचे ड्रग रखी गई होती थी। वह ऐसा इसलिए करता था ताकि कोई उसके गैरकानूनी काम को पकड़ न पाए।

यह भी पढ़ें ...  उत्तराखंड के चमोली में भीषण हादसा, गहरी खाई में गाड़ी गिरने से 12 लोगों की मौत

यह भी पढ़ें

 

 

 

ड्रग सप्लायर को हाल ही में पुलिस ने पकड़ा था
मुख्य ड्रग सप्लायर अमित शर्मा अजय को ड्रग सप्लाई करता था। हाल ही में चंडीगढ़ पुलिस ने अमित को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 2.10 किलो हेरोइन बरामद की थी। आरोपी अजय को आगे ड्रग सप्लाई करने पर रोजाना 5 हजार रुपए मिलते थे। पहले अजय अंबाला कैंट में फ्रूट की रेहड़ी लगाता था। 8 से 9 महीने पहले वह अमित के संपर्क में आया था।

1 किलो हेरोइन बरामद की
सख्ती से पूछताछ में अमित ने कबूला कि रायपुर खुद में उन्होंने में किराए के कमरे में ड्रग की एक और कंसाइनमेंट रखी हुई है। ऐस में पुलिस ने वहां से 1 किलो हेरोइन और बरामद की। अलमारी के दराज में पीछे एक खास जगह बना कर ड्रग को छिपाया गया था। वहीं पुलिस ने 6 मोबाइल फोन भी बरामद किए हैं। इसके जरिए अमित कस्टमर्स से संपर्क करता था।

अमित पर 15 केस दर्ज, 4 NDPS के हैं
इससे पहले पकड़े गए अमित शर्मा पर 15 आपराधिक केस दर्ज हैं। इनमें से 4 NDPS एक्ट और 10 के डकैती और लूट के हैं। उसने रिमांड के दौरान अपने रायपुर खुर्द वाले किराए के कमरे के बारे में नहीं बताया था जहां पर अजय रहता था। बीते 9 दिसंबर को अमित की पुलिस कस्टडी खत्म होने पर उसका 3 और दिन का पुलिस रिमांड लिया गया था। वहीं जब रायपुर खुर्द से अजय की गिरफ्तारी हुई और उसने अपने गैंग के सरगना के रूप में अमित का नाम लिया तो दोनों को आमने-सामने बिठा कर पूछताछ की गई।

यह भी पढ़ें ...  ग्वालियर स्कूल बस समाचार : छह माह में इंटरसेप्टर से एक भी स्कूल बस का चालान नहीं

ड्रग मनी से कई संपत्तियां बनाई
पुलिस के मुताबिक, अमित पिछले 2 से 3 सालों से हेरोइन बेच रहा था। इससे उसने बहुत पैसा कमाया और अपना 70 लाख रुपए के लगभग का लोन भी उतारा था। उसने जीरकपुर में 1 फ्लैट और 2 दुकानें ड्रग मनी से खरीदी थी। पुलिस का कहना है कि आरोपी ने ड्रग मनी से जो प्रॉपर्टी बनाई उसे कानून के तहत जब्त किया जाएगा।

अंबाला में ज्यादातर वारदातें अंजाम दी
अमित के खिलाफ अंबाला में सिटी, बलदेव नगर, शहजादपुर, पंजोखड़ा और अंबाला कैंट में 11 आपराधिक केस दर्ज हैं। वहीं चंडीगढ़ के सेक्टर 34 थाने में 2 और सेक्टर 31 थाने में एक केस दर्ज पाया गया है। वहीं अजय का कोई क्रिमिनल रिकार्ड नहीं मिला है।

Hindxpress.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button